Berberis Aquifolium मुंहासों,फुंसी से छुटकारा पाने का प्राकृतिक तरीका

Berberis Aquifolium मुंहासों,फुंसी से छुटकारा पाने का प्राकृतिक तरीका

Berberis Aquifolium (बर्बेरिस एक्वीफोलियम) एक ऐसी होम्योपैथी औषधि है जो मुंहासों,फुंसी,त्वचा को कोमल बनाने में और अन्य त्वचा समस्याओं से छुटकारा दिलाने में मदद करती है।इसको प्राकृतिक तरीके से ओरेगनो ग्रेप (Oregon Grape) से बनाया जाता है। इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसका कोई नुकसान या साइड इफेक्ट नहीं है, इसलिए यह आपकी त्वचा के लिए एक सुरक्षित और प्राकृतिक उपाय है।

Berberis Aquifolium
ओरेगनो ग्रेप (Oregon Grape)

Berberis Aquifolium के फायदे | मुहासों में काम कैसे करता है?

  • Anti inflammatoryProperties | सूजन रोधी गुण : Berberis Aquifolium में ऐसे तत्व पाए जाते है, जिसमें एंटी इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज होती है जो रेडनेस ,सूजन और स्किन के इन्फेक्शन, मुहासों आदि को ठीक करने की ताकत रखती है।
  • Regulate sebum production | सीबम उत्पादन को नियंत्रित करता है: हम सभी जानते हैं कि हमारी त्वचा सीबम नामक तेल निकालती है, और Berberis Aquifolium सीबम को नियंत्रित करता है, जिससे त्वचा के ओपन पोर्स खुलते हैं, जिससे मुँहासे और दाग कम होने लगते हैं।
  • Antibacterial consequences | जीवाणु रोधी परिणाम : Berberis Aquifolium में एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो केवल पुराने मुहासों, दाग और दब्बों को ही नहीं ठीक करते, बल्कि नए मुहासों के निकलने से भी रोकते हैं।
  • Herbal exfoliation | हर्बल एक्सफोलिएशन: यह हर्बल एक्सफोलिएशन में मदद कर सकता है जिससे त्वचा की सतह से बेजान छिद्र और मृत कोशिकाओं को आसानी से हटाया जा सकता है, जिससे मुँहासों की ग्रोथ को रोका जा सकता है, और साथ ही बर्बेरिस एक्विफोलियम छिद्रों को साफ रखने में भी मदद करता है।
  • bright skin tone | चमकदार त्वचा का रंग:बर्बेरिस एक्विफोलियम मुहासों के साथ-साथ रंग को गोरा करने के लिए भी उपयोग किया जाता है। पुराने समय में राजाओं की रानियां इसका उपयोग सुंदर और बेदाग दिखने के लिए करती थीं।
  • Natural treatment | प्राकर्ति क उपचार :आज जहाँ दुनिया में हर चीज में केमिकल का इस्तेमाल हो रहा है वहीं बर्बेरिस एक्विफोलियम एक प्राकर्तिक नुस्खा है जो ऑरेगोन ग्रपेस से निकाला जाता है जो ना सिर्फ केमिकल फ्री है बल्कि इसके कोई साइडइफेक्ट्स भी नहीं है यानि आप इसको बिना किसी परेशानी के इस्तेमाल कर सकते हैं।

बर्बेरिस एक्विफोलियम के अन्य फायदे| Other benefits of Berberis Aquifolium

Berberis Aquifolium के इस्तेमाल से आप काफी अच्छा महसूस करते हैं, क्योंकि यह न केवल मुँहासों, दाग-धब्बों को हटाता है, बल्कि आपका खोया हुआ आत्मविश्वास भी वापस लाता है। ऐसा कहा जाता है कि जब आप अच्छे दिखते हैं, तो आपका आत्मविश्वास दोगुना-तिगुना बढ़ जाता है। वैसे ही, बर्बेरिस एक्विफोलियम का इस्तेमाल करने से न केवल आपके चेहरे की रंगत बढ़ती है, बल्कि यह आपका आत्मविश्वास भी बढ़ाता है।

Berberis Aquifolium benefits
benefits of Berberis Aquifolium

1.Good-bye redness | रेडनेस से छुटकारा

Berberis Aquifolium का इस्तेमाल करने के कुछ ही दिनों बाद, मुँहासों के कारण होने वाली रेडनेस धीरे-धीरे कम होने लगती है। इससे आपका प्राकृतिक रंग उभरकर आता है और आप और भी अधिक जवान और सुंदर लगते हैं।

2.Less oily skin | कम तैलीय त्वचा

मुँहासे होने का मुख्य कारण चेहरे की सीबम ग्रंथियों में मौजूद तेल होता है। जब चेहरे के छिद्र बंद हो जाते हैं, तो यह तेल एक जगह इकट्ठा हो जाता है और धीरे-धीरे मुँहासे का कारण बनता है। बर्बेरिस एक्विफोलियम के इस्तेमाल से बंद छिद्र खुलते हैं, जिससे आपके चेहरे का न केवल तेल निकल जाता है, बल्कि आपकी त्वचा भी साफ हो जाती है। और यह स्वाभाविक है कि जब चेहरे से तेल निकल जाता है, तो आपका चेहरा और अधिक चमकदार हो जाता है।

3.Natural remedy | प्रकृति द्वारा इलाज

बर्बेरिस एक्विफोलियम आपकी एक अच्छे दोस्त की तरह मदद करता है। यह हमें प्रकृति से मिला है, इसलिए इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं है। प्राकृतिक तरीके से इलाज थोड़ा समय ले सकता है, लेकिन यह अच्छा माना जाता है, क्योंकि प्राकृतिक औषधियाँ आपके शरीर को आंतरिक और बाहरी नुकसान नहीं पहुँचाती हैं। यही कारण है कि प्रकृति को उपचार के लिए सबसे अच्छा माना जाता है।

पिम्पल्स को हटाने के लिए बर्बेरिस एक्विफोलियम मदर टिंचर का उपयो | Berberis Aquifolium mother tincture for pimples removal

बर्बेरिस एक्विफोलियम मदर टिंचर को ओरेगोन अंगूर से बनाया जाता है। इसमें एंटीबैक्टीरियल, एंटीऑक्सीडेंट और ब्लड प्यूरीफाइंग गुण होते हैं, जो मुख्य रूप से मुँहासों और चेहरे से संबंधित समस्याओं के लिए दिया जाता है। इसका उपयोग कई सालों से मुँहासों को हटाने, चेहरे को साफ करने और चेहरे को कोमल बनाने के लिए किया जा रहा है। लेकिन यह हमारे खून को भी साफ करता है, जिससे हमें अन्य बीमारियों के होने का खतरा भी कम हो जाता है।

image 25
Berberis Aquifolium mother tincture

Berberis Aquifolium mother tincture को उपयोग करने का सही तरीका?

बर्बेरिस एक्विफोलियम मदर टिंचर का उपयोग मुँहासों में दो तरह से किया जा सकता है: आंतरिक(internally) और बाहरी(externally)।

  1. आंतरिक(internally): आंतरिक उपयोग का मतलब है कि इसे पिया जा सकता है, जिससे यह शरीर के अंदर से काम करेगा।
  2. बाहरी(externally): बाहरी भाग से मतलब है की आप इसे पानी में मिलकर या फिर बिना मिलाए डायरेक्ट चेहरे पर लगा सकते हो।

अब क्वेश्चन आता है आंतरिक और बहरी कितनी-कितनी मात्रा में लगाया और लिया जाए जिससे जल्दी मुहासों और चेहरे की समस्या से छुटकारा पाया जा सके। मुँहासों से जल्दी छुटकारा पाने के लिए, आंतरिक और बाहरी दोनों रूप से बर्बेरिस एक्विफोलियम मदर टिंचर का उपयोग करने की सलाह दी जाती है।

जो भी लोग इसको ये समझ कर ले रहे है की, इसे लेते ही तुरंत आराम मिल जाएगा तो,में आपकी जानकारी के लिए बता दू ऐसा कुछ नहीं है और जो लोग भी आपको बोलते है की इसे लेलें जल्दी ठीक हो जायेगा या जल्दी ठीक हो जाएगी ऐसा कुछ नहीं है. वो आपको बस बेवकूफ बना रहे हैं, क्युकी कोई भी प्राकर्तिक औषद्यि या दवाई को असर दिखनेमें समय लगता है तो कृपया करके जो लोग जल्दी ठीक होने के इरादे से इसे लेने वाले हैं. इसकी बजायेवो अंग्रेजी दवाइयों की तरफ जा सकते हैं।

अच्छा अब बात करते है इसे कितनी मात्रा में लेना है इसे आंतरिक भाग से (Internally) लेने के लिए खाली पेट यानि खाना खाने से एक या दो घंटे पहले सुबहशाम 10-10 बून्द पानी में मि लाकर या बिना मिलाए जैसे आप ले सके ले सकते हैं और अगर किसी कारण से आप भूल जाते है तो खाना खाने के दो घंटे बाद ले सकते हैं। यह खाली पेट ज्यादा असर दिखाती है, तो इसके ज्यादा लाभ के लिए इसे आप खाली पेट ही ले।

अब बात करते है बाहरी भाग से(Externally) अगर आप इसे बहरी भाग से लगाना चाहते हैं तो 15 बून्द किसी छोटे बर्तन में डालें और रुई के सहायता से हल्के हाथो से चेहरे पर लगाए ध्यान दे किसी भी तरह का दबाव न लगने पाए।

क्या बर्बेरिस एक्विफोलियम काम करती है? Does Berberis Aquifolium really work?

इसका उपयोग सालों से चेहरे की तमाम समस्याओ के लिए किया जा रहा है, यानि ये बिल्कुल काम करती है इसके प्रभाव भले ही दिखने में समय लगता है लेकिन ये काम करती है अगर किसी कारण से ये काम नहीं कर रही तो इसका मतलब या तो आपकी मुहासों की समस्या ज्यादा बड़ी है या फिर आपका खान पान सही नहीं है ध्यान दीजिए कोई भी प्राकर्तिक औषद्यि या दवाई एक अनुकूल वातावरण में काम करती है।

अगर आप अपने शरीर को वो वातावरण नहीं दे रहे हैं, तो हो सकता है ये आपके लिए काम ना करे काम कर भी सकती है लेकिन ज्यादातर काम नहीं करेगी इसीलिए प्राकर्तिक औषधि लेने से पहले आप अपना खान पान सुधारें, ये आपके लिए जरूर काम करेगी।

मुहासें कितने प्रकार के होते हैं? Types of Pimple

Berberis Aquifolium pimples types

मुहासेंमुख्यता 6 प्रकार के होते हैं जिसमे सबसे पहले

  1. ब्लैकहेड्स आते है जो काले रंग के जिद्दी दाग होते हैं जो डेड स्किन पर अतिरि क्त आयल जम जाने से होते हैं इनके बनने का मुख्य कारण धूल धुआँ पोलूशन और कई अन्य कारण भी होते हैं।
  2. वाइटहैट्स ये तब होते है जब हमारी डेड स्किन के सेल्स बंद हो जाते है और ये भी धूल, धुएंऔर हमारी कुछ असावधानियों की वजह से होते हैं।
  3. छोटे-छोटे दाने इनके होने के कई कारण है और इन्हे मुख्यता गर्मियों में ज्यादा महसूस किया जाता है ये लाल रंग और सफ़ेद रंग के दिखाई देते हैं।
  4. मुहासे ये कई बार छोटे या बड़े हो सकते हैं जो लाल और सफ़ेद रंग के होते हैं और ये मुख्यता जब कोई लड़काया लड़की जवानी में कदम रखते हैं, तब होते हैं कई लोगो में ये सूखे होते हैं और कई लोगो में मवाद से भरे हुए।
  5. गाँठ ये स्किन की गहरायी में होते है जो छूने में ठोस लगते हैं।
  6. सिस्ट गांठ की तरह ही होती है बस फर्क इतना होता है की ये मवाद से भरी हुई होती है और कई बार ऐसा देखा गया है जब ये ठीक होती है तो एक निशान छोड़ देती है।

बर्बेरिसएक्वि फोलियम को कहाँ से ख़रीदे? where to buy berberis aquifolium

अगर आप बर्बेरिस एक्विफोलियम खरीदने की सोच रहे है तो आप इसे अपने पास के किसी भी होम्योपैथिक स्टोर से आसानी से खरीद सकते है या फिर आप इसे Amazon या फिर फ्लिपकार्ट से ऑनलाइन भी मंगा सकते है।

Berberis aquifolium खरीदने के लिए यहां क्लिक करें –> Click here

Reasons of Pimples | मुहासें होने के कारण

  • वंशागति| Heredity मुहासें त्वचा रोगो में सबसे ज्यादा परेशान करने वाली समस्या है और ये अक्सर नौजवान (Young ) लोगो में16-25 वर्ष की उम्र तक देखी जाती है, इस उम्र में चेहरे पर मुहासें होना एक सामान्य प्रिक्रिया है क्युकी इसी उम्र में हमारे हार्मोन्स घटते बढ़ते रहते है जिसकी वजह से चेहरे पर तेल का स्राव ज्यादा होने लगता है और जब ये तेल हद से ज्यादा बन जाता है तो मुहासों का कारण बनता है।
  • खान पान | diet चेहरे पर मुहासें सिर्फ युवावस्था की वजह से नहीं होते बल्कि ये हमारे खान पान की वजह से भी होते है जैसे ज्यादा तैलीय वस्तुए खाने से भी मुहासों की समस्या हो सकती है।
  • तनाव | stress मुहासें के कई कारणों में से एक ये भी है की जब आप ज्यादा तनाव में रहते हैं तो शरीर के हार्मोन्स अंसतुलित हो जाते हैं जिससे मुहासों की समस्या और ना जाने कितने ही तरह की बीमारियां होने लगती हैं।
  • नींद सही सेना लेना | Not getting enough sleep कई बार हम काम काज में इतने व्यस्थ हो जाते हैं की सोना ही भूल जाते है जिससे न सिर्फ शरीर में तनाव बढ़ता है बल्कि हमारे हार्मोन्स भी असंतुलित हो जाते हैं जिससे मुहासों की समस्या होने लगती है।

मुहासों से बचाव कैसे करें| How to prevent pimples

मुहासे होना एक आम बात है, लेकिन जब ये ज्यादा हो जायें तो तनाव का कारण बन जाते है लेकिन अपने खान पान और आदतों को सुधारकर हम मुहासों पर विजय प्राप्त कर सकते हैं. खान पान और आहार से मुहासों से बचाव किया जा सकता है, मुहासों की समस्या अक्सर शरीर की गर्मी की वजह से होती है जब भी हमारे पेट में गर्मी बढ़ जाती तो यह मुहासें और कई बीमारियों के रूप में बाहर निकलती है।

मांस मछली का सेवन ना करे अगर आपको मुहासों की ज्यादा समस्या है और आप मांस मछली या का सेवन करते है तो आज ही बंद कर दे क्योंकि मांस मछली पकने के बाद अम्लीय प्रवर्ति की हो जाती है जिससे शरीर का PH लेवल असंतुलित हो जाता है और शरीर में गर्मी बढ़ जाती है और इतना ही नहीं हमारे पूरे पेट को इसे पचाने के लिए 8-16 घंटे तक का समय लगता है जिससे ना सिर्फ मुहासें बल्कि पेट से सम्बंधित भी कई तरह की समस्या हो सकती है ।

दूध और दूध से बनी चीजों का सेवन न करें अगर आपको मुहासों की समस्या है तो ऐसे मेंदूध से बनी वस्तुओ को नहीं लेना चाहिए क्युकी इससे हमारी शरीर में गर्मी बढ़ती हैं और तैलीय ग्रंथि ज्यादा तेल बनाने लगती है जिससे मुहासों की समस्या हो सकती है।

अत्यधिक चीनी का सेवन न करें मीठा हमारे शरीर के लिए बेहद जरुरी है लेकिन अगर आप मीठे की कमी चीनी से पूरी करेंगे तो मुहासों और स्किन सम्बन्धी कई सारी समस्या हो सकती है क्योंकि चीनी को कई ऐसे केमिकल से बनाया जाता है जो शरीर के अंदर जाते ही कई तरह की बीमारियां पैदा करते है और सूजन बढ़ाते है फिर चाहे वो शारीरिक सूजन हो या मुहासों की सूजन।

अत्यधिक तैलीय चीजों का सेवन भी बंद कर दे अगर आप अत्यधि क तैलीय चीजे खाते हैं तो आज ही बंद कर दे अत्यधिक तैलीय खाने से भी शरीर में हार्मोनल असंतुलन होता है जिससे भी मुहासों की समस्या बढ़ सकती है और कई रिसर्च में ऐसा देखा भी गया है की अधिक तैलिये चीजे खाने वालेव्यक्ति ज्यादा मुहासों से परेशान रहते हैं।

FAQ-(सामान्य प्रश्न)

  1. प्रश्न- बर्बेरिसएक्वि फोलियम को कहाँ से ख़रीदे?

    उत्तर- अगर आप बर्बेरिस एक्विफोलियम खरीदने की सोच रहे है तो आप इसे अपने पास के किसी भी होम्योपैथिक स्टोर से आसानी से खरीद सकते है या फिर आप इसे अमेज़ॉन या फिर फ्लि पकार्ट से ऑनलाइन भी मंगा सकते हैं।

  2. प्रश्न- क्या Berberis Aquifolium काम करती है?

    उत्तर- इसका उपयोग सालों से चेहरे की तमाम समस्याओ के लिए किया जा रहा है, यानि ये बिल्कुल काम करती है इसके प्रभाव भले ही दिखने में समय लगता है लेकिन ये काम करती है।

ये भी पढ़ें

  1. बाल झड़ना कैसे रोके घरेलू उपाय- How to stop hair fall home remedies
  2. PM Kisan Samman Nidhi Yojana: यह क्या है, आवेदन कैसे करें, आवश्यक दस्तावेज, स्थिति की जांच, 15वीं किस्त कब आएगी? जाने सब कुछ
  3. Whatsapp Se Paise Kaise Kamaye- व्हाट्सएप से पैसे कमाने के 10 तरीके
  4. जिसके फिंगर प्रिंट नहीं आते हों, वह आधार कार्ड कैसे बनवा सकता है?
  5. Gulluk Bachcha Bank: ये है बिहार का अनोखा “गुल्लक बच्चा बैंक” जिसे बच्चे ही चलाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यकीन नहीं मानोगे! ये 9 जगहें हैं UP में जो ताजमहल को भी फीका कर देंगी! मेरठ: इतिहास, धर्म और खूबसूरती का संगम! घूमने के लिए ये हैं बेहतरीन जगहें रोज आंवला खाने के 10 धांसू फायदे जो आपको कर देंगे हेल्दी और फिट! Anjali Arora to play Maa Sita: रामायण फिल्म में सीता का रोल निभाएंगी अंजली अरोड़ा, तैयारियों में लगी? Rinku Singh : रिंकू सिंह ने अपने दाहिने हाथ पर बने टैटू का खोला राज, सुनकर हो जायेंगे दंग
यकीन नहीं मानोगे! ये 9 जगहें हैं UP में जो ताजमहल को भी फीका कर देंगी! मेरठ: इतिहास, धर्म और खूबसूरती का संगम! घूमने के लिए ये हैं बेहतरीन जगहें रोज आंवला खाने के 10 धांसू फायदे जो आपको कर देंगे हेल्दी और फिट! Anjali Arora to play Maa Sita: रामायण फिल्म में सीता का रोल निभाएंगी अंजली अरोड़ा, तैयारियों में लगी? Rinku Singh : रिंकू सिंह ने अपने दाहिने हाथ पर बने टैटू का खोला राज, सुनकर हो जायेंगे दंग
यकीन नहीं मानोगे! ये 9 जगहें हैं UP में जो ताजमहल को भी फीका कर देंगी! मेरठ: इतिहास, धर्म और खूबसूरती का संगम! घूमने के लिए ये हैं बेहतरीन जगहें रोज आंवला खाने के 10 धांसू फायदे जो आपको कर देंगे हेल्दी और फिट! Anjali Arora to play Maa Sita: रामायण फिल्म में सीता का रोल निभाएंगी अंजली अरोड़ा, तैयारियों में लगी? Rinku Singh : रिंकू सिंह ने अपने दाहिने हाथ पर बने टैटू का खोला राज, सुनकर हो जायेंगे दंग Panchayat Season 3 Release Date: फुलेरा में मचा भूचाल! क्या अभिषेक इस बार हार जाएगा?