Lycopodium 200 uses in hindi | लाइकोपोडियम 200   के उपयोग व फायदे

Lycopodium 200 uses in hindi | लाइकोपोडियम 200 के उपयोग व फायदे

Lycopodium 200 uses in hindi: इसका उपयोग होमियोपैथी में कब्ज, बुखार, पेशाब सम्बन्धी समस्याओ और बालो सम्बन्धी समस्याओ में किया जाता है साथ ही इसका उपयोग जोड़ो सम्बन्धी समस्याओ, श्वसन संबंधी समस्याओ पाचन क्रिया को सरल बनाने में तथा पेट सम्बन्धी कई सारी समस्याओ में भी किया जाता है।

what is lycopodium | लाइकोपोडियम क्या है

Lycopodium एक होम्योपैथिक दवा है जिसका पूरा नाम लाइकोपोडियम-क्लेवेटम (Lycopodium-clavatum) है, जिसका उपयोग होमियोपैथी डॉक्टरों द्वारा किया जाता है यह क्लबमॉस पौधे के बीजाणुओं से बना एक उपचार है। यह अनेको प्रकार के रोगो को ठीक करने के लिए जाना जाता है लाइकोपोडियम को 30CH , 200CH और 1000CH की पावर में दिया जाता है।

इसे किस बीमारियों में प्रयोग किया जाता है?

लाइकोपोडियम-क्लेवेटम को कई तरह की बीमारियों में दिया जाता है क्योंकि ये न सिर्फ बीमारियों को जल्दी ठीक करता है बल्कि इसके परिणाम भी गजब के हैं, इसके कुछ उपयोग हैं:

1.lycopodium for digestive problems (पाचन संबंधी समस्याएं के लिए):

मुख्यतः पेट सम्बन्धी तकलीफों में इस्तेमाल किया जाता है। जब किसी मरीज को खाना पचाने में परेशानी होती है उस स्थिति में यह मरीज के सिम्प्टम को देखकर दी जाती है ताकि उसे जल्दी आराम मिले।

2.lycopodium for stomach gas problems (गैस सम्बन्धी समस्या के लिए):

अक्सर गैस बनने पर होमियोपैथी में लाइकोपोडियम-क्लेवेटम को दिया जाता है जिन लोगो को भी पेट में गैस, छाती में जलन और कमर में गैस का दर्द होता है उनके लिए यह अच्छा काम करती है और जो लोग भी गैस की समस्या से सालो से परेशान है उनमे भी लाइकोपोडियम के अच्छे परिणाम देखने को मिलते हैं।

3.lycopodium for bloating (पेट में सूजन के लिए):

पेट में सूजन अक्सर पाचन में समस्या की वजह से होती है, यानी जब कभी आपका खाना सही ढंग से नहीं पच पाता तब यह समस्या होती है और ऐसा अक्सर तब होता है जब आप कुछ ऐसा खा लेते जिसे पचने में पेट को अत्यधिक ऊर्जा लगानी पड़ती है ऐसे में यह पेट की सूजन को कम करती है।

4.lycopodium for heartburn or acid reflux(सीने में जलन या एसिड रिफ्लक्स के लिए):

कई बार हम जाने अनजाने कुछ ऐसा खा लेते है जिससे हार्टबर्न यानि छाती में जलन जैसा महसूस होने लगती है और कई बार तो ऐसा भी लगता की हार्ट से सम्बंधित कोई समस्या है लेकिन ऐसा होता नहीं है। यह आपके अपचित खाने से निकलने वाली गैस है।

एसिड रिफ्लक्स कई बार ज्यादा खाने की वजह से या फिर गलत खाने की वजह से पेट के अंदर का जठर रस ऊपर आने लगता है, जिसमे खट्टी खट्टी ढकारें आने लगती है कभी कभी उलटी जैसा भी महसूस होता है इन दोनों ही कारणों में लाइकोपोडियम से अच्छे परिणाम कुछ ही दिनों में देखने को मिलते हैं।

5.lycopodium for constipation (कब्ज़ के लिए):

कभी कभी सही खाना सही से ना चबाने की वजह से या फिर कुछ तैलीय खाने की वजह से या फिर कुछ ऐसा खाने की वजह से जो पचने में अधिक समय लगता है और ऐसे कई कारणों की वजह से कब्ज की समस्या होती है ऐसे में लेट्रिन (Stool) पास करने में दिक्कत होती है और लेट्रिन सही से ना होने की वजह से कई तरह की दिक्क़ते होती है ऐसे में लाइकोपोडियम नियमित और अधिक लाभदायक मॉल त्यागने को बढ़ावा देता हैं।

6.lycopodium for nausea and vomiting ( नोशिया और उल्टी के लिए):

नोशिया का मतलब होता है उल्टी जैसा मन होना और उल्टी आप सभी जानते ही हो ऐसे में आपका पेट खाने को वहीं भेजता है जहाँ से वो आया था या फिर भेजने का प्रयास करता है,

इसके मुख्य तीन कारण होते हैं:

  • खान पान जब कभी आप कुछ ऐसा खा लेते हो जो पचने में कठिन है तो ऐसे में पेट उसे वापस भेजता है या फिर भेजने का प्रयास करता है और
  • अपनी भूक से ज्यादा खा लेना और
  • इन्फेक्शन कई बार शरीर में कही इन्फेक्शन होने की वजह से भी खाना ऊपर की तरफ जाने लगता है या प्रतीत होता है।

इसका कारन दवाइयां हो सकती है या फिर कोई पेट से सम्बन्धित बीमारी ऐसे में लाइकोपोडियम खाने के पाचन में काम करती है और आपके शरीर से दूषित चीजे को बहार निकलने में मदद करती है।

7.Lycopodium for urine

अगर आप बार बार पेशाब आने से परेशान है या फिर पेशाब करते वक्त आपको पेशाब के रास्ते में जलन होती है तो ऐसे में लाइकोपोडियम का सेवन करने से आपको आराम मिलता है लेकिन आपको पेशाब सम्बन्धी या प्राइवेट संबंधी चीजों में किसी जानकार डॉक्टर की सलाह में लेना चाहिए।

8.Lycopodium for fever

हालाकि हमारे देश में पैरासिटामोल को बुखार में सबसे ज्यादा महत्व दिया जाता है लेकिन ये न सिर्फ शरीर के लिए खराब है बल्कि इसके साइड इफेक्ट भी कई सारे के ऐसे में आप लाइकोपोडियम का सेवन कर सकते है ये ना सिर्फ आपको नेचुरली ठीक करेगा बल्कि आपकी इम्यूनिटी भी बढ़ाएगा और हो सकता है थोड़ा समय ले लेकिन ये आपको बिना की साइड इफेक्ट के ठीक करता है अगर आप इसका सेवन बुखार में करना चाहते है।

ये ध्यान रखे की आप 20 साल से ज्यादा के होने चाहिए और अपने इतनी सहन शक्ति होनी चाहिए की आप बुखार सहन कर ले तभी इसका सेवन करे नहीं तो रहने दे अगर बुखार की बात की तो ये हमारे शरीर में तब होता है जब हमारे शरीर में अच्छे बैक्टीरिया खराब बैक्टीरिया को खत्म कर रहे होते है ऐसे में कई बार बुखार या उल्टी आ सकती है बुखार उतनी बड़ी समस्या नही है जितना की हम इसे मान लेते हैआप बुखार में इसका सेवन बेशक कर सकते हो बस आपकी मानसिक शक्ति मजबूत होनी चाहिए

Other uses of lycopodium | लाइकोपोडियम के अन्य उपयोग

1.Lycopodium for Hair | बालों के लिए

Lycopodium बालो के लिए होमियोपैथी में बहोत ही असरकारक दवा है और खास तौर पर उन लोगो के लिए जिनके अभी अभी बाल झड़ना शुरू हुए है हलाकि बाल झड़ना आज कल इतना सामान्य हो गया है की हर दूसरे तीसरे इंसान इससे परेशान है इसके अगर मुख्य कारण की बात करू तो तनाव, खानपान, वातावरण, हमारे शरीर के हार्मोन्स, हमारे माता-पिता के जीन्स।

हालांकि ये बहुत बड़ी सम्स्या है जब बालो का झड़ना काम उम्र से सुरु हो जाए और आजकल ऐसा बहुत देखने को मिल रहा है छोटे छोटे बच्चे 17 या 19 साल के बच्चे भी इससे परेशान है ऐसी छोटी उम्र में जब बाल झड़ने लगे तो न सिर्फ आत्मविश्वास ख़तम हो जाता है बल्कि किसी से मिलने का भी मन नहीं करता और जब कोई महिला मित्र हो तो और भी नहीं तो ऐसे में आप लाइकोपोडियम का इस्तेमाल कर सकते है।

ये ना सिर्फ आपके बालो को मजबूती देता है या बालो को झड़ने से रोकता है बल्कि ये आपके सफ़ेद बालो को काला भी करता है यानि जो लोग बाल झड़ने की समस्या से परेशान है उनके लिए तो ये है ही और उनके लिए भी है जो सफ़ेद बालो से परेशान हैं।

2.Lycopodium for Pain | दर्द में लाइकोपोडियम

Lycopodium में ऐसी इंफ्लामेट्री प्रॉपर्टीज होती है जो दर्द से आराम दिलाती है हालांकि लाइकोपोडियम होमियोपैथ की एक ऐसी दवा है जो कई सारी बीमारियों में काम आती है इसमें कई सारे ऐसे गुण पाए जाते है जो दर्द में आराम दिलाते है और खास तौर पर कमर दर्द या फिर हाथ और पैरों का दर्द और लाइकोपोडियम उन लोगो को भी होमियोपैथी डॉक्टरों द्वारा दी जाती है जो बार बार होने वाले दर्द से परेशान हो जाते है यानि इसे एक परमानेंट सलूशन के रूप में भी दिया जाता है जो बढ़ती उम्र के साथ घुटनो के दर्द से शरीर में जोड़ो के दर्द या किसी भी तरह के दर्द से परेशान रहते हैं।

3.Lycopodium for Immunity Booster| लाइकोपोडियम रोग प्रतिरोधक क्षमता में

कई होम्योपैथिक डॉक्टरों द्वारा इसका उपयोग मरीज की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए भी किया जाता है लाइकोपोडियम इसके अंदर ऐसे तत्व पाए जाते है जो बीमारियों से लड़ने में शरीर की सहायता करते है जिन बच्चों को बचपन में सही से पोषण नहीं मिलता या यूँ कहे कुपोषण हो जाता है उन बच्चों के लिए भी यह बहुत ही अच्छा काम करती है बशर्ते आपको इसको बच्चों के लिए डॉक्टर की सलाह में लेना है क्युकी बच्चो में यह दवाई कई सारे कारणों को देखकर दी जाती है।

What is Lycopodium dilution | लाइकोपोडियम तनुकरण क्या है

Lycopodium को क्लबमोस नाम के पेड़ से इसके अर्क द्वारा बनाया जाता हैं, होमियोपैथी में दवाइयों को अलग अलग तरह के पेड़ो फूल पत्तों से उसके अर्क यानि रस द्वारा बनाया जाता है जिस तरह से आयुर्वेदा में कोई भी जड़ी बूटी पीस कर दी जाती है वैसे ही होमियोपैथी में उसी जड़ी बूटी का रास निकला जाता है ताकि उसे ज्यादा दिन तक बिना किसी खराब हुए रखा जा सके।

Lycopodium: क्या यह आपके लिए सही है?

बेशक लाइकोपोडियम अच्छा है क्योंकि ये प्रकर्ति से मिला है जिस कारण इसके कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं है लेकिन अगर आप इसे डॉक्टर की सलाह में लेते है तो सोने पर सुहागा है बशर्ते डॉक्टर को इसकी जानकारी होनी चाहिए इसको लेने के कई फायदों में से एक फायदा यह भी है की ये शरीर की कई सारी बीमारियों को ठीक करता है शरीर से कमजोरी दूर करता है शरीर की इम्युनिटी बढ़ता है जिससे आपका शरीर जल्दी-जल्दी बीमार होना बंद हो जाता है।

How to use Lycopodium | उपयोग कैसे करे

इसको लेने से पहले एक बात याद रखना की ये नॉर्मली तीन तरह की पावर में आती है 30CH, 200CH और 1000CH हालांकि केवल 30CH और 200CH ही इस्तेमाल की जाती है।

  • 30CH तब इस्तेमाल की जाती है तब बीमारी अभी शुरू ही हुई हो या फिर कम उम्र के लोगों को देनी हो।
  • 30CH का इस्तेमाल तब भी किया जाता है जब डॉक्टर इसे रोज लेने की सलाह देता है
  • 200CH इसका उपयोग हफ्ते में एक बार या फिर हफ्ते में दो बार किया जाता है लेकिन कई मरीजों को डॉक्टर इसे रोज लेने की सलाह भी देता है और ऐसा तब होता है जब बीमारी बड़ी हो
  • 200CH का इस्तेमाल इसलिए भी किया जाता है ताकि रोज दवाई न लेनी पड़े कई बार लोग रोज दवाई लेने के चक्कर में कभी कभी भूल जाते है इसीलिए डॉक्टर 30CH न देकर 200CH दे देते है

How can i use it | क्या मैं इसे ले सकता हूँ ?

अगर आप इसे लेने की सोच रहे है और अगर आप 18 साल से ज्यादा के हो तो आप 30 CH पावर में इसे 3-4 बून्द रात को खाना खाने के एक घंटा पहले ले सकते है और अगर किसी कारण भूल जाते है तो खाना खाने के एक घंटे बाद अगर आप दिए समय के अनुसार लाइकोपोडियम का सेवन करते हो तो आपको इसका फायदा जल्दी देखने को मिल जायेगा ।

Note: अगर आप लाइकोपोडियम 200 पावर में लेने की सोच रहे है तो आप इसे एक बार पास के किसी अच्छे होम्योपैथिक डॉक्टर को जरूर दिखाए बिना डॉक्टर की सलाह के आप खुद से ना ले माना की इसके साइड इफेक्ट्स नहीं है लेकिन बिना जानकारी के लेने से आपको शायद फायदा न मिले और क्या पता ये आपके लिए ये नुकसान दायक हो और इसका इस्तेमाल बच्चो में बिना डॉक्टर की सलाह के बिलकुल न करे ये घातक भी हो सकता है।

Lycopodium 200 को कहाँ से ख़रीदे? where to buy Lycopodium 200

अगर आप Lycopodium 200 खरीदने की सोच रहे है तो आप इसे अपने पास के किसी भी होम्योपैथिक स्टोर से आसानी से खरीद सकते है या फिर आप इसे Amazon या फिर फ्लिपकार्ट से ऑनलाइन भी मंगा सकते है।

Lycopodium 200 खरीदने के लिए यहां क्लिक करें –> Click here

FAQ:

1.Lycopodium 200 कैसे काम करता है?

Lycopodium 200 एक होम्योपैथिक दवा है जो शरीर के प्राकृतिक उपचार प्रक्रिया को सक्रिय करके काम करती है। यह दवा शरीर में ऊर्जा के प्रवाह को संतुलित करने और लक्षणों को दूर करने में मदद करती है।

2.Lycopodium 200 कितने समय तक लेना चाहिए?

Lycopodium 200 को आमतौर पर तब तक लिया जाता है जब तक कि लक्षण ठीक न हो जाएं। हालांकि, कुछ मामलों में, इसे लंबे समय तक लेने की आवश्यकता हो सकती है।

3.क्या मैं इसे ले सकता हूँ ?

Lycopodium 200 एक सुरक्षित दवा है, लेकिन इसे लेने से पहले अपने डॉक्टर से बात करना हमेशा सबसे अच्छा होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यकीन नहीं मानोगे! ये 9 जगहें हैं UP में जो ताजमहल को भी फीका कर देंगी! मेरठ: इतिहास, धर्म और खूबसूरती का संगम! घूमने के लिए ये हैं बेहतरीन जगहें रोज आंवला खाने के 10 धांसू फायदे जो आपको कर देंगे हेल्दी और फिट! Anjali Arora to play Maa Sita: रामायण फिल्म में सीता का रोल निभाएंगी अंजली अरोड़ा, तैयारियों में लगी? Rinku Singh : रिंकू सिंह ने अपने दाहिने हाथ पर बने टैटू का खोला राज, सुनकर हो जायेंगे दंग Panchayat Season 3 Release Date: फुलेरा में मचा भूचाल! क्या अभिषेक इस बार हार जाएगा?