What is IPO in hindi | IPO क्या है? यह किस प्रकार काम करता है

What is IPO in hindi | IPO क्या है? यह किस प्रकार काम करता है

What is IPO in hindi: IPO का फुल फॉर्म (initial public offering)‌ जिसका हिंदी अर्थ प्रारंभिक पब्लिक पेशकश होता है। आईपीओ के जरिए एक कंपनी स्टॉक मार्केट में शेयर के बदले लोगों से पैसा उठाती है।जब कोई कंपनी अपने सामान्य स्टॉक या शेयर को नया-नया पब्लिक में जारी करती है तो उसे आईपीओ (IPO) आरंभिक सार्वजनिक पेशकश कहा जाता हैं।कंपनियां शेयर बाजार में लिस्टेड होने के लिए IPO को जारी करती है।

एक बार जब कंपनी स्टॉक मार्केट में लिस्ट हो जाती है उसके बाद निवेशक उस कंपनी के शेयर को खरीद और भेज सकते हैं।कंपनियां निवेश या विस्तार करने की हालत में फंड इकट्ठा करने के लिए IPO जारी करती है। कोई भी कंपनी आईपीओ को तभी जारी करती है, जब उन्हें ज्यादा मात्रा में पूंजी की आवश्यकता होती है।

What is IPO in hindi
What is IPO in hindi:

IPO में निवेश कैसे करें?

What is IPO in hindi: IPO में निवेश करने के लिए, आपके पास एक वैध DEMAT Account होना चाहिए।अब आपने जिस भी स्टॉक ट्रेडिंग एप्लीकेशन के द्वारा अपना डिमैट अकाउंट ओपन करवाया है, उस स्टॉक ट्रेडिंग एप्लीकेशन के जरिए आप आसानी से आईपीओ में निवेश कर सकते हैं।

आईपीओ के प्रकार types of IPO in India

आईपीओ दो प्रकार के होते हैं :

1.फिक्स्ड प्राइस आईपीओ (Fixed Price IPO)

फिक्स्ड प्राइस IPO को एक मुद्दे मूल्य के रूप में संदर्भित किया जा सकता है जो कुछ कंपनियां अपने शेयरों की प्रारंभिक बिक्री के लिए निर्धारित करती हैं।निवेशक पहले से ही उन शेयरों की कीमत के बारे में जानते हैं जो कंपनी इसे सार्वजनिक करने का फैसला करती है।मुद्दे के बंद होने के बाद बाजार में शेयरों की मांग का पता लगाया जा सकता है। यदि निवेशक इस आईपीओ में भाग लेते हैं, तो उन्हें यह सुनिश्चित करना होगा कि वे आवेदन करते समय शेयरों के पूर्ण मूल्य का भुगतान करें।

What is IPO in hindi
What is IPO in hindi:
2.बुक बिल्डिंग आईपीओ (Book Building IPO)

बुक बिल्डिंग में आईपीओ शुरू करने वाली कंपनी निवेशकों को शेयरों पर 20% मूल्य बैंड प्रदान करती है। अंतिम मूल्य तय होने से पहले इच्छुक निवेशक शेयरों पर बोली लगाते हैं। यहां निवेशकों को उन शेयरों की संख्या को बताने की आवश्यकता है जो वे खरीदना चाहते हैं और वह राशि जो वे प्रति शेयर भुगतान करने के लिए तैयार हैं।

न्यूनतम शेयर की कीमत को फर्श की कीमत के रूप में जाना जाता है और उच्चतम स्टॉक मूल्य को कैप वैल्यू के रूप में जाना जाता है। शेयरों की कीमत के बारे में अंतिम निर्णय निवेशकों की बोलियों द्वारा निर्धारित किया जाता है।


Is finance a good career path?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यकीन नहीं मानोगे! ये 9 जगहें हैं UP में जो ताजमहल को भी फीका कर देंगी! मेरठ: इतिहास, धर्म और खूबसूरती का संगम! घूमने के लिए ये हैं बेहतरीन जगहें रोज आंवला खाने के 10 धांसू फायदे जो आपको कर देंगे हेल्दी और फिट! Anjali Arora to play Maa Sita: रामायण फिल्म में सीता का रोल निभाएंगी अंजली अरोड़ा, तैयारियों में लगी? Rinku Singh : रिंकू सिंह ने अपने दाहिने हाथ पर बने टैटू का खोला राज, सुनकर हो जायेंगे दंग Panchayat Season 3 Release Date: फुलेरा में मचा भूचाल! क्या अभिषेक इस बार हार जाएगा?