Ganpati Visarjan :जानिये क्यों किया जाता है गणपति विसर्जन ,गणेश पुराण का रहस्य

Ganpati Visarjan :जानिये क्यों किया जाता है गणपति विसर्जन ,गणेश पुराण का रहस्य

Ganpati Visarjan : ये कितनी अजीब बात है कि, हम अपने घर में गणेश जी को लेकर आते हैं और बिल्कुल बच्चे की तरह उनका लालन पालन करते हैं, उनकी सेवा करते हैं फिर उन्ही गणपति को विसर्जित कर देते हैं। क्या आपने कभी सोचा है के अखिरकर गणेश चतुर्थी पर गणेश प्रतिमा लाने के बाद उसी प्रतिमा का विसर्जन क्यों किया जाता है।अगर नहीं तो चलिए आज हम इस आर्टिकल में आपको इस बात का जवाब दे देते है

Ganpati Visarjan: क्यों किया जाता है गणपति विसर्जन

Ganpati Visarjan: दरअसल पुराणों के अनुसार वेद व्यास जी ने गणेश जी को गणेश चतुर्थी के दिन महाभारत सुनाना शुरू किया और गणपति आंखें बंद करके बेहद ध्यानपूर्वक वेदव्यास जी की महाभारत सुन रहे थे, गणेश चतुर्थी के दस दिन बाद वेद व्यास जी की महाभारत खत्म हुई.

Ganpati Visarjan

महाभारत खत्म होने के बाद वेदव्यास जी ने देखा कि गणेश जी का तापमान बहुत बढ़ चुका है, गणपति के तापमान को कम करने के लिए वेदव्यास जी ने फौरन वहां मौजूद कुंड में बप्पा को डुबकी लगवाई इसीलिए मान्यता है कि गणेश चतुर्थी के दिन हम बप्पा को अपने घर लेकर आते हैं और उनके कान में अपनी अपनी मनोकामनाएं सुनाते हैं, सभी भक्तों की मनोकामना सुनने के बाद गणपति जी का तापमान बढ़ जाता है और उसी तापमान को कम करने के लिए हम गणेश जी की प्रतिमा को जल में विसर्जित कर देते हैं।

इससे जुड़ी एक और मान्यता है जिसमें कहा जाता है कि ईश्वर को कोई भी बांधकर नहीं रख सकता भगवान गणेश की मूर्ति सभी लोग अपने घर में एक तरीके से ईश्वर को भूलोक ले तो आते हैं परंतु उनका असल मायने में स्थान स्वर्ग लोक ही है इसलिए कहा जाता है कि प्रतिमा को विसर्जित करके गणेश जी को वापस उनके घर स्वर्ग लोक भेज दिया जाता है ताकि वे सभी देवी देवताओं को यह बता सके कि भूलोक का क्या हाल है ताकि उनके भक्तों की मनोकामनाएं वो पूरी कर सकें। ऐसी कई मान्यताएं गणेश विसर्जन को लेकर पढ़ने व सुनने को मिलती हैं।

वहीं आपको बता दें कि गणेश विसर्जन लोग अपने हिसाब से अलग-अलग समय पर करते हैं, कोई 5 दिन तो कोई 10 दिन में गणपति की मूर्ति को विसर्जित करते हैं, इन सबको लेकर हम तो आपसे सिर्फ एक ही बात कहना चाहेंगे कि ईश्वर को मात्र एक चीज चाहिए और वो सच्ची श्रद्धा, सच्ची श्रद्धा और भाव से अगर आप हर बार गणपति जी की सेवा करेंगे तो यकीनन गणपति जी आप पर मेहरबान होंगे क्योंकि गणपति बप्पा को विघ्नहर्ता, विघ्न विनाशक कहा जाता है, आशा करता हूं कि आपको यह जानकारी अच्छी लगी होगी इसी तरह की ओर जानकारी पढ़ने के लिए फॉलो करें हिंदी में जानकारी वेबसाइट को।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यकीन नहीं मानोगे! ये 9 जगहें हैं UP में जो ताजमहल को भी फीका कर देंगी! मेरठ: इतिहास, धर्म और खूबसूरती का संगम! घूमने के लिए ये हैं बेहतरीन जगहें रोज आंवला खाने के 10 धांसू फायदे जो आपको कर देंगे हेल्दी और फिट! Anjali Arora to play Maa Sita: रामायण फिल्म में सीता का रोल निभाएंगी अंजली अरोड़ा, तैयारियों में लगी? Rinku Singh : रिंकू सिंह ने अपने दाहिने हाथ पर बने टैटू का खोला राज, सुनकर हो जायेंगे दंग Panchayat Season 3 Release Date: फुलेरा में मचा भूचाल! क्या अभिषेक इस बार हार जाएगा?