Web Designing क्या है, “जानिए इसका मतलब और शुरुआत कैसे करें” (Web Designing kya hai)

Web Designing क्या है, “जानिए इसका मतलब और शुरुआत कैसे करें” (Web Designing kya hai)

(Web Designing kya hai) ये आज के युग में बहुत पॉपुलर सवाल है जो कि बहुत सर्च किया जाता है आज हम इस आर्टिकल में Web Designing kya hai(Web Designing क्या है) और इसको आप कैसे सीख सकते हैं इसके बारे में जानेंगे, तो इसके बारे में पूरा जानने के लिए आपको इस आर्टिकल के अंत तक बने रहना होगा, मैं आपको ये विश्वास दिलाता हूं कि अगर आप Web Designing सीखना चाहते हैं और इसके बारे में और अधिक जानने चाहते हैं तो आप सही जगह पर हैं, आज यहां आपको आपके सारे सवालों का जवाब मिलने वाला है, तो चलिये जानते हैं वेब-डिजाइनिंग के बारे में।

Table of Contents

Web Designing kya hai

Web designing एक ऐसी तकनीक है जिसमें लोग वेबसाइटों को बनाने और उन्हें आकर्षक बनाने के लिए उपयोग किए जाने वाले विभिन्न तकनीकों का उपयोग करते हैं। यह सामान्यतः HTML, CSS, JavaScript, एवं अन्य वेब प्रोग्रामिंग भाषाओं का उपयोग करता है। वेब डिजाइनिंग में Design, Development, और Website Prototype बनाने के लिए बहुत सी तकनीकें होती हैं।

Web designing में web page, layout, content production और graphic design सहित कई चीजें आती हैं। वेबसाइट डिजाइनिंग का मतलब वेबसाइटों की योजना बनाना,वेबसाइ बनाना और अपडेट करना होता है। वेब डिजाइनिंग के अंतर्गत वेबसाइट को attractive और उपयोग करने में आसान बनाने के लिए user interface और अन्य visual imagery जैसे काम किए जाते हैं।

Web designing के लिए कोई qualifications की जरूरत नहीं होती है . कोई भी व्यक्ति जिसके पास थोड़ा बहुत skill हो और काम करने में रूचि हो वह एक Web designer बन सकता है। वेब डिजाइनिंग के लिए आपको fast और responsive website कैसे बनाये इस बारे में बताया जाता है। वेबसाइट डिजाइनिंग कंपनियों को अपने व्यवसाय के लिए एक स्पष्ट ब्रांड बनाने या बनाए रखने में मदद करती है।

वेब डिजाइन क्या है (What is Web Design in Hindi-Web Designing kya hai)

Web designing एक process है जिसमें वेबसाइट के संपूर्ण स्वरूप को बनाने की प्रक्रिया होती है. इसमें web page, layout, content production और graphic design सहित कई चीजें आती हैं. वेबसाइट डिजाइनिंग का मतलब वेबसाइटों की योजना बनाना, बनाना और अपडेट करना होता है . वेब डिजाइनिंग के अंतर्गत वेबसाइट को attractive और उपयोग करने में आसान बनाने के लिए user interface और अन्य visual imagery जैसे काम किए जाते हैं।

Web designing के लिए कुछ सॉफ्टवेयर जैसे Photoshop और Illustrator का इस्तेमाल होता है . वेबसाइट डिजाइनिंग के प्रकार जैसे सिंगल पेज डिजाइन, स्थिर वेबसाइट डिजाइन, डाइनामिक वेबसाइट डिजाइन, ब्लॉग डिजाइन आदि होते हैं।

Web Designing kya hai
Web Designing kya hai

इस प्रक्रिया में वेबसाइट के layout, font, color, e-mail, text, button, form, Logo आदि को डिजाइन किया जाता है ताकि उसे आकर्षक बनाया जा सके और उपयोगकर्ता को उसे आसानी से समझ में आ सके. वेबसाइट डिजाइनिंग के अंतर्गत वेबसाइट को उपयोगकर्ता के लिए आसान बनाने के लिए user interface और अन्य visual imagery जैसे काम किए जाते हैं . इसमें वेबसाइट के संरचना, लेआउट, फ़ॉन्ट, रंग, इमेज, टेक्स्ट, बटन, फ़ॉर्म, लोगो आदि को डिजाइन किया जाता है ताकि उसे आकर्षक बनाया जा सके और उपयोगकर्ता को उसे आसानी से समझ में आ सके।

web designing के लिए कौन से tools का इस्तेमाल किया जाता है

Web designing के लिए कई टूल्स उपलब्ध हैं जैसे Wix, Squarespace, Shopify,WordPress, Adobe Dreamweaver, Figma, Google Web Designer, ClickUp, Trello आदि . इन टूल्स का उपयोग वेबसाइट डिजाइनिंग के विभिन्न तत्वों जैसे ग्राफिक, लेआउट, कंटेंट, फ़ॉन्ट, रंग आदि को बनाने के लिए किया जाता है . इनमें से कुछ टूल्स जैसे ClickUp, Figma, Adobe, Trello आदि ग्राफिक डिजाइनिंग के लिए भी उपयोग किए जाते हैं .

Web design के लिए क्या क्या सीखना पड़ता है?

Web Designing के लिए कोई खास योग्यता या शैक्षणिक डिग्री की आवश्यकता नहीं होती है। किसी भी व्यक्ति जो इस क्षेत्र में कुशलता और रूचि रखता हो, वह वेब डिजाइनर बन सकता है।

वेब डिजाइनिंग सीखने के लिए, आपको निम्नलिखित कौशलों को सीखने की आवश्यकता होती है:

  1. Visual design: एक अच्छी वेबसाइट बनाने के लिए आपको विजुअल डिजाइन के बारे में समझना होगा। इसमें कलर स्कीम, टाइपोग्राफी, लोगो और फोटोग्राफी के बारे में सीखने की आवश्यकता होती है।
  2. UX (यूज़र एक्सपीरियंस): आपकी वेबसाइट का यूज़र एक्सपीरियंस बहुत महत्वपूर्ण है। यूज़र एक्सपीरियंस शामिल होती है कि आपकी वेबसाइट की नेविगेशन, फ़ॉर्म, बटन और अन्य तत्वों की क्या होगी।
  3. SEO (खोज इंजन अनुकूलन), मार्केटिंग और सोशल मीडिया: वेबसाइट को सफल बनाने के लिए आपको SEO, मार्केटिंग और सोशल मीडिया के बारे में जानने की आवश्यकता होगी। इससे आप अपने वेबसाइट का प्रचार कर सकते हैं और लोगों को अपनी वेबसाइट पर लाने में मदद कर सकते हैं।
  4. Coding language की समझ जैसे की HTML, CSS और Javascript
  5. Design software की समझ जैसे की Photoshop और Illustrator

web designing सीखने के लिए कौन-कौन से resources हैं

Web Designing सीखने के लिए कई रिसोर्सेज उपलब्ध हैं। इनमें से कुछ ऑनलाइन टूल्स, ट्यूटोरियल्स, वेबसाइट्स और कोर्सेज शामिल हैं। वेब डिजाइनिंग कोर्सेज में HTML, CSS, javascript, Photoshop, Illustrator, HTML, CSS, jquery, Bootstrap, Angular जैसे टूल्स का उपयोग किया जाता है। इन कोर्सेज के अलावा, वेबसाइट्स जैसे

  • Udemy,
  • Coursera,
  • Code School
  • tutorials point
  • lynda.com
  • LinkedIn
  • W3 school
  • Codecademy,
  • Khan Academy,
  • Lynda,
  • Udacity,
  • Pluralsight
  • Treehouse

जैसी वेबसाइट्स भी उपलब्ध हैं जो वेब डिजाइनिंग सीखने के लिए उपयोगी हो सकते हैं।

इसके अलावा, वेब डिजाइनिंग के लिए टूल्स और रिसोर्सेज भी उपलब्ध हैं। इनमें शामिल हैं वेब डिजाइन टूल्स, वेब डिजाइन टेम्पलेट्स, वेब डिजाइन इंस्पिरेशन, वेब डिजाइन ब्लॉग्स, वेब डिजाइन फोरम्स और वेब डिजाइन न्यूज़लेटर्स। इन रिसोर्सेज के अलावा, वेब डिजाइनिंग के लिए विभिन्न टूल्स भी उपलब्ध हैं जैसे Adobe Photoshop, Sketch, Figma, Canva, InVision, GIMP, Gravit Designer, Affinity Designer और Vectr जैसे टूल्स।

इन सभी रिसोर्सेज का उपयोग करके वेब डिजाइनिंग सीखना संभव है। इनमें से कुछ रिसोर्सेज निःशुल्क होते हैं जबकि कुछ कोर्सेज और टूल्स के लिए शुल्क लगता है।

Web-desig कोर्स क्या है – What is web designing course in hindi

वेब डिजाइनिंग कोर्स एक प्रक्रिया है जिसमें वेबसाइट के लिए Graphic, Layout, Content, Font, Colors जैसे पाँच elements को कैसे शामिल किया जाता है। इसके अलावा, वेब डिजाइनिंग कोर्स में Visual design, UX (user experience), SEO (Search engine optimization), marketing और social media के बारे में भी सीखाया जाता है। इसके साथ ही, HTML, CSS, JavaScript जैसी languages की समझ भी आवश्यक होती है। वेब डिजाइनिंग कोर्स में विभिन्न टूल्स जैसे Photoshop और illustrator का भी इस्तेमाल करना सीखाया जाता है। वेब डिजाइनिंग कोर्स से आप वेबसाइट डिजाइनिंग के बारे में विस्तृत ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं और इस फील्ड में करियर बना सकते हैं। 

वेब डिजाइनिंग कोर्स की अवधि क्या होती है?

वेब डिजाइनिंग कोर्स की अवधि विभिन्न हो सकती है। कुछ कोर्स छह महीने तक के होते हैं जबकि कुछ एक साल तक चलते हैं। इसके अलावा, कुछ कोर्स एक से अधिक वर्षों तक चलते हैं। इसलिए, वेब डिजाइनिंग कोर्स की अवधि विभिन्न इंस्टीट्यूट और कोर्स के आधार पर भिन्न होती है। आमतौर पर, एक बेसिक वेब डिजाइनिंग कोर्स की अवधि छह महीने से एक साल तक होती है। 

वेब डिजाइनिंग Certificate कोर्स

वेब डिजाइनिंग के लिए कई ऑनलाइन कोर्स उपलब्ध हैं जो आप हिंदी में ले सकते हैं। इनमें से कुछ कोर्स निःशुल्क होते हैं जबकि कुछ कोर्स पैसे के लिए उपलब्ध होते हैं। आप यूट्यूब पर भी वेब डिजाइनिंग के लिए निःशुल्क कोर्स खोज सकते हैं। यदि आप वेब डिजाइनिंग में नौसिखिया हैं तो आप यूट्यूब पर निःशुल्क कोर्स खोज सकते हैं जो आपको वेब डिजाइनिंग के बेसिक ज्ञान के साथ-साथ विस्तृत जानकारी भी प्रदान करते हैं।

वेब डिजाइनिंग के लिए सर्टिफिकेट कोर्स कहाँ से कर सकते हैं

वेब डिजाइनिंग के लिए सर्टिफिकेट कोर्स कई ऑनलाइन और ऑफलाइन इंस्टीट्यूट द्वारा प्रदान किए जाते हैं। आप इंटरनेट पर वेब डिजाइनिंग से संबंधित विभिन्न वेबसाइटों पर जाकर सर्टिफिकेट कोर्स के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। इनमें से कुछ ऑनलाइन कोर्स निःशुल्क होते हैं जबकि कुछ कोर्स फीस लेते हैं। आप ऑनलाइन वेबसाइटों (coursera,udemy etc) पर जाकर वेब डिजाइनिंग के लिए सर्टिफिकेट कोर्स खोज सकते हैं। इन कोर्सों की अवधि भी विभिन्न होती है। कुछ कोर्स एक से अधिक महीनों तक चलते हैं जबकि कुछ कोर्स कुछ घंटों तक होते हैं। आप ऑनलाइन वेबसाइटों पर जाकर वेब डिजाइनिंग के लिए सर्टिफिकेट कोर्स खोज सकते हैं। 

Diploma Course in Website Designing

वेबसाइट डिजाइनिंग के लिए डिप्लोमा कोर्स कई ऑनलाइन और ऑफलाइन इंस्टीट्यूटों से उपलब्ध हैं। आप ऑनलाइन वेबसाइटों पर जाकर वेबसाइट डिजाइनिंग के लिए डिप्लोमा कोर्स खोज सकते हैं। इन कोर्सों की अवधि भी विभिन्न होती है। कुछ कोर्स एक से अधिक महीनों तक चलते हैं जबकि कुछ कोर्स कुछ घंटों तक होते हैं। आप ऑनलाइन वेबसाइटों पर जाकर वेबसाइट डिजाइनिंग के लिए डिप्लोमा कोर्स खोज सकते हैं। इसके अलावा, आप ऑफलाइन इंस्टीट्यूटों से भी वेबसाइट डिजाइनिंग के लिए डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं। 

Web Designing Course के फायदे

वेब डिजाइनिंग कोर्स करने के कई फायदे होते हैं। इससे आप वेबसाइट डिजाइनिंग के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं और वेबसाइट डिजाइनिंग में एक्सपर्ट बन सकते हैं। इसके अलावा, आप वेबसाइट डिजाइनिंग के लिए नवीनतम टूल्स और तकनीकों का भी ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं। वेब डिजाइनिंग कोर्स करने से आप वेबसाइट डिजाइनिंग में करियर बना सकते हैं और इससे आपकी सैलरी में भी वृद्धि हो सकती है।

इसके अलावा, आप वेबसाइट डिजाइनिंग के लिए फ्रीलांसिंग भी कर सकते हैं।वेब डिजाइनिंग कोर्स करने से आप वेबसाइट डिजाइनिंग में एक्सपर्ट बन सकते हैं और इससे आपके पास एक Marketable Skill होता है। इससे आप नए करियर विकल्प ढूंढ सकते हैं और फ्रीलांसिंग करके भी पैसे कमा सकते हैं।

इसके अलावा, वेबसाइट डिजाइनिंग के लिए एक्सपर्ट बनने से आप अपने ग्राहकों के लिए अच्छी वेबसाइट बना सकते हैं जो उनके व्यवसाय के लिए बहुत महत्वपूर्ण होती है।वेब डिजाइनिंग कोर्स करने से आप वेबसाइट डिजाइनिंग के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं जो आपके लिए बहुत उपयोगी हो सकती है। इससे आप वेबसाइट डिजाइनिंग में नवीनतम टूल्स और तकनीकों का भी ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं जो आपके लिए बहुत उपयोगी हो सकती है।

इससे आप वेबसाइट डिजाइनिंग में नए और अधिक आकर्षक डिजाइन बनाने की कला सीख सकते हैं जो आपके वेबसाइट को अधिक उत्कृष्ट बनाने में मदद कर सकती है।वेब डिजाइनिंग कोर्स करने से आप वेबसाइट डिजाइनिंग में करियर बना सकते हैं जो आपके लिए बहुत उपयोगी हो सकता है। इससे आप वेबसाइट डिजाइनिंग कंपनियों में नौकरी पा सकते हैं और इससे आपकी सैलरी में भी वृद्धि हो सकती है। इसके अलावा, आप फ्रीलांसिंग करके भी पैसे कमा सकते हैं।

इससे आप अपने घर से काम कर सकते हैं और अपने समय को अधिक उपयोगी बना सकते हैं।वेब डिजाइनिंग कोर्स करने से आप वेबसाइट डिजाइनिंग के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं जो आपके लिए बहुत उपयोगी हो सकती है। इससे आप वेबसाइट डिजाइनिंग में नवीनतम टूल्स और तकनीकों का भी ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं जो आपके लिए बहुत उपयोगी हो सकती है। इससे आप वेबसाइट डिजाइनिंग में नए और अधिक आकर्षक डिजाइन बनाने की कला सीख सकते हैं जो आपके वेबसाइट को अधिक उत्कृष्ट बनाने में मदद कर सकती है

web designing course करने के बाद कैरियर के विकल्प

web designing कोर्स करने के बाद आप वेब डिजाइनिंग के कई कैरियर विकल्पों को अपना सकते हैं। आप वेब डिजाइनिंग कंपनियों में नौकरी कर सकते हैं जहाँ आप वेबसाइट डिजाइनिंग के लिए काम कर सकते हैं। इसके अलावा, आप Freelancing कर सकते हैं और अपने खुद के Clint के लिए वेबसाइट डिजाइनिंग कर सकते हैं। आप अपने खुद के वेबसाइट डिजाइनिंग बिजनेस को शुरू कर सकते हैं और अपने खुद के क्लाइंटों के लिए वेबसाइट डिजाइनिंग कर सकते हैं। इसके अलावा, आप वेबसाइट डिजाइनिंग के लिए फ्रीलांसिंग प्लेटफॉर्मों पर भी काम कर सकते हैं। आप वेबसाइट डिजाइनिंग के लिए अपने खुद के ट्यूटोरियल वीडियो बना सकते हैं और इससे आप अपने खुद के यूट्यूब चैनल को शुरू कर सकते हैं। 

Web designing में नौकरी के विकल्प

image 188
Web Designing kya hai

अक्सर कई छात्रों को यह जानना होता है कि Web Designing के कोर्स करने के बाद उनके पास नौकरी के लिए कौन से विकल्प होते हैं। निम्नलिखित नौकरियां Web Designing से जुड़ी होती हैं:

  1. एप्लिकेशन डेवलपर
  2. गेम डेवलपर
  3. मल्टीमीडिया प्रोग्रामर
  4. मल्टीमीडिया स्पेशलिस्ट
  5. एसईओ विशेषज्ञ
  6. UX विश्लेषक
  7. UX डिजाइनर
  8. वेब सामग्री प्रबंधक
  9. वेब डिजाइनर
  10. वेब डेवलपर

Web Designer की Salary

वेब डिजाइनर की सैलरी उनकी अनुभव, कौशल, शहर और कंपनी के आधार पर भिन्न होती है। भारत में वेब डिजाइनर की सालाना औसत सैलरी 53,476 डॉलर है। अमेरिका में वेब डिजाइनर की सालाना औसत सैलरी 58,198 डॉलर है। एक नौसिखिया वेब डिजाइनर की शुरुआती सैलरी 45,000 से 71,000 डॉलर प्रति वर्ष होती है। 

web designer की salary किस factors पर depend करती है

वेब डिजाइनर की सैलरी कई factors पर निर्भर करती है जैसे कि उनकी अनुभव, कौशल, शहर और कंपनी। वेब डिजाइनिंग कोर्स करने के बाद आप वेब डिजाइनिंग कंपनियों में नौकरी पा सकते हैं या फिर फ्रीलांसिंग कर सकते हैं। इसके अलावा, आप वेबसाइट डिजाइनिंग के अलावा अन्य डिजाइनिंग के क्षेत्रों में भी करियर बना सकते हैं। वेब डिजाइनिंग कोर्स करने के बाद आप अच्छी सैलरी प्राप्त कर सकते हैं। 

आज आपने क्या सीखा

आज आपने वेब डिजाइनिंग कोर्स के बारे में जानकारी प्राप्त की है। मैंने यह जाना कि वेब डिजाइनिंग कोर्स करने के बाद आप वेब डिजाइनिंग कंपनियों में नौकरी पा सकते हैं या फिर फ्रीलांसिंग कर सकते हैं। इसके अलावा, आप वेबसाइट डिजाइनिंग के अलावा अन्य डिजाइनिंग के क्षेत्रों में भी करियर बना सकते हैं। मैंने यह भी जाना कि भारत में कई वेब डिजाइनिंग कोर्स उपलब्ध हैं जिन्हें करने के बाद आप अच्छी सैलरी प्राप्त कर सकते हैं। मैंने यह भी देखा कि वेब डिजाइनिंग कोर्स करने के लिए नौसिखियों के लिए भी फ्री कोर्स उपलब्ध हैं। 

FAQ- (Web Designing kya hai)

Q- Web Designing का मुख्य इस्तमाल किया है?

Ans- Web Designing का मुख्य इस्तमाल वेबसाइट बनाने के लिए होता है। वेब डिजाइनिंग एक प्रक्रिया है जिसमें वेब पेज, लेआउट, कंटेंट उत्पादन और ग्राफिक डिजाइन जैसी कई चीजें शामिल होती हैं। वेब डिजाइनिंग का उद्देश्य वेबसाइट को आकर्षक और उपयोग करने में आसान बनाना होता है। वेब डिजाइनिंग के अंतर्गत वेबसाइट को एक बेहतरीन और पूरी तरह से काम करने वाली वेबसाइट बनाने के लिए उपयोग किए जाने वाले टूल जैसे Photoshop और Illustrator जैसे टूल होते हैं। 

Q-वेब डिजाइन सीखना कितना कठिन है?

Ans– वेब डिजाइनिंग सीखना आसान या कठिन होता है यह उपलब्ध संसाधनों और व्यक्तिगत योग्यताओं पर निर्भर करता है। वेब डिजाइनिंग कोर्स करने से आप वेबसाइट बनाने की प्रक्रिया के बारे में सीख सकते हैं जो आपको वेबसाइट बनाने में मदद करेगी। वेब डिजाइनिंग कोर्स करने के बाद आप वेब डिजाइनिंग कंपनियों में नौकरी पा सकते हैं या फिर फ्रीलांसिंग कर सकते हैं। इसके अलावा, आप वेबसाइट डिजाइनिंग के अलावा अन्य डिजाइनिंग के क्षेत्रों में भी करियर बना सकते हैं। वेब डिजाइनिंग सीखना आसान हो सकता है यदि आप उचित संसाधनों का उपयोग करें और अध्ययन के लिए समय निकालें। 

Q-क्या web design एक सही career है ?

Ans- हाँ, web design एक सही करियर हो सकता है। वेब डिजाइनिंग एक बढ़ता हुआ क्षेत्र है जो आजकल बहुत सारे कंपनियों द्वारा उपयोग किया जाता है। वेब डिजाइनिंग के लिए आवश्यक योग्यताएं शामिल हैं जैसे कि डिजाइनिंग कौशल, रंग और लेआउट के ज्ञान, ग्राफिक डिजाइन के ज्ञान और वेब डिजाइनिंग टूल के ज्ञान। वेब डिजाइनिंग के लिए आपको एक डिप्लोमा या डिग्री की आवश्यकता नहीं होती है। आप इस क्षेत्र में फ्रीलांसिंग कर सकते हैं या फिर किसी कंपनी में नौकरी पा सकते हैं। 

Q-web design करियर के लिए कौन से skills जरूरी होते हैं

Ans- Web design करियर के लिए कुछ जरूरी skills हैं जैसे कि डिजाइनिंग कौशल, रंग और लेआउट के ज्ञान, ग्राफिक डिजाइन के ज्ञान और वेब डिजाइनिंग टूल के ज्ञान। वेब डिजाइनिंग के लिए आपको एक डिप्लोमा या डिग्री की आवश्यकता नहीं होती है। आप इस क्षेत्र में फ्रीलांसिंग कर सकते हैं या फिर किसी कंपनी में नौकरी पा सकते हैं। वेब डिजाइनिंग के लिए आपको वेबसाइट डिजाइनिंग, HTML, CSS, JavaScript और वेब डिजाइनिंग टूल्स के ज्ञान की आवश्यकता होती है। इसके अलावा, आपको ग्राफिक डिजाइन, रंग और लेआउट के ज्ञान की भी आवश्यकता होती है। 

Q-क्या बिना degree के भी आप एक web designer बन सकते हैं?

Ans- हाँ, आप बिना degree के भी एक web designer बन सकते हैं। वेब डिजाइनिंग के लिए आपको वेबसाइट डिजाइनिंग, HTML, CSS, JavaScript और वेब डिजाइनिंग टूल्स के ज्ञान की आवश्यकता होती है। इसके अलावा, आपको ग्राफिक डिजाइन, रंग और लेआउट के ज्ञान की भी आवश्यकता होती है। वेब डिजाइनिंग के लिए आपको एक डिप्लोमा या डिग्री की आवश्यकता नहीं होती है। आप इस क्षेत्र में फ्रीलांसिंग कर सकते हैं या फिर किसी कंपनी में नौकरी पा सकते हैं। इसके लिए आपको वेब डिजाइनिंग कोर्स करने की आवश्यकता होती है जो आप ऑनलाइन या ऑफलाइन भी कर सकते हैं। 

5 thoughts on “Web Designing क्या है, “जानिए इसका मतलब और शुरुआत कैसे करें” (Web Designing kya hai)

  1. Hey There. I found your blog using msn. This is an extremely well written article. I will make sure to bookmark it and come back to read more of your useful information. Thanks for the post. I will certainly return.

  2. Wonderful beat ! I wish to apprentice while you amend your web site, how could i subscribe for a blog site? The account aided me a acceptable deal. I had been a little bit acquainted of this your broadcast offered bright clear concept

  3. Its like you read my mind! You appear to know a lot about this, like you wrote the book in it or something. I think that you can do with some pics to drive the message home a bit, but instead of that, this is excellent blog. A great read. I’ll definitely be back.

  4. I was recommended this website by my cousin. I am not sure whether this post is written by him as nobody else know such detailed about my difficulty. You’re amazing! Thanks!

  5. It is the best time to make some plans for the future and it’s time to be happy. I have read this post and if I could I wish to suggest you some interesting things or tips. Perhaps you can write next articles referring to this article. I want to read even more things about it!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यकीन नहीं मानोगे! ये 9 जगहें हैं UP में जो ताजमहल को भी फीका कर देंगी! मेरठ: इतिहास, धर्म और खूबसूरती का संगम! घूमने के लिए ये हैं बेहतरीन जगहें रोज आंवला खाने के 10 धांसू फायदे जो आपको कर देंगे हेल्दी और फिट! Anjali Arora to play Maa Sita: रामायण फिल्म में सीता का रोल निभाएंगी अंजली अरोड़ा, तैयारियों में लगी? Rinku Singh : रिंकू सिंह ने अपने दाहिने हाथ पर बने टैटू का खोला राज, सुनकर हो जायेंगे दंग Panchayat Season 3 Release Date: फुलेरा में मचा भूचाल! क्या अभिषेक इस बार हार जाएगा?